Breaking News
  • Breaking News Will Appear Here

बिजली इन्जीनियरों ने सीएम से की मांग, आईएएस की तरह मिले पदनाम

 Vikas Tiwari |  2016-12-16 16:43:58.0

बिजली इन्जीनियरों

तहलका न्यूज़ ब्यूरो

लखनऊ. उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा आई ए एस अधिकारियों को मुख्य सचिव का वेतनमान मिलने पर अपर मुख्य सचिव का पदनाम दिए जाने पर बिजली इन्जीनियरों ने प्रदेश के मुख्य मन्त्री अखिलेश यादव से माँग की है कि आई ए एस अधिकारियों की तरह बिजली इन्जीनियरों को भी उच्च वेतनमान मिलने पर उस वेतनमान के अनुरूप पदनाम भी दिया जाये ।


आल इण्डिया पावर इन्जीनियर्स फेडरेशन के चेयरमैन शैलेन्द्र दुबे , उप्रराविप अभियन्ता संघ के अध्यक्ष जी के मिश्र एवम महासचिव राजीव सिंह ने आज यहां जारी बयान में कहा है कि बिजली इन्जीनियर अत्यन्य दुरूह परिस्थितियों में कार्य कर रहे हैं और आम जनता को बिजली मुहैय्या कराने का कठिन कार्य कर रहे हैं ऐसे में उच्च पदों पर पदोन्नतियां न मिलने से बिजली अभियन्ताओं में कुण्ठा व्याप्त होना स्वाभाविक है ।


उन्होंने बताया कि बिजली अभियन्ताओं को समयबद्ध वेतन मान मिलता है जिसके तहत 09 साल की सेवा के बाद अधिशाषी अभियन्ता ,कुल 14 साल की सेवा के बाद अधीक्षण अभियन्ता और कुल 19 साल की सेवा के बाद मुख्य अभियन्ता स्तर - ॥ का वेतन मान मिल रहा है अतः वेतनमान मिलने के बाद पदनाम प्रदान करने में सरकार को कोई अतिरिक्त वित्तीय भार नहीं उठाना पडेगा ।


अभियन्ता पदाधिकारियों ने इस मामले में मुख्यमन्त्री से तत्काल प्रभावी निर्देश देने का अनुरोध करते हुए कहा है कि सभी बिजली अभियन्ताओं को 09 साल की सेवा के बाद अधिशाषी अभियन्ता ,कुल 14 साल की सेवा के बाद अधीक्षण अभियन्ता और कुल 19 साल की सेवा के बाद मुख्य अभियन्ता स्तर - ॥ का वेतनमान मिलने के साथ क्रमशः अधिशाषी अभियन्ता , अधीक्षण अभियन्ता और मुख्य अभियन्ता का पदनाम भी प्रदान किया जाए।

Tags:    

  Similar Posts

Share it
Share it
Share it
Top